पटना (खाँचा:Lang-ur ) भारत महिया बिहार प्रान्त कय राजधानी अहै। पटना कय प्राचीन नाँव पाटलिपुत्र रहा। आधुनिक पटना दुनिया कय कुछ अइसन गिनल-चुनल प्रचीन नगरन में से अहै जवन बहुत प्राचीन काल से आज भी आबाद अहै। अपने आप में ई शहर कय बहुत ऐतिहासिक महत्व अहै।

मेगस्थनीज (350 ई॰पू॰-290 ई॰पू॰) आपन भारत भ्रमण कय बाद लिखल पुस्तक इंडिका मा ई नगर कय उल्लेख पलिबोथ्रा (पाटलिपुत्र) कय रूप में करिन जवन गंगा अउर अरेन्नोवास (सोनभद्र-हिरण्यवाह) कय संगम पे बसा रहा। ऊ पुस्तक कय आकलन कय हिसाब से प्राचीन पटना (पलिबोथा) 9 मील (14.5 कि.मी.) लम्मा तथा 1.75 मील (2.8 कि.मी.) चौड़ा रहा होई।

आधुनिक पटना बिहार राज्य कय राजधानी अहै अव गंगा नदी कय दक्षिणी किनारा पे अवस्थित अहै। सोरह लाख (16,00,000) से अधिक आवादी वाला ई शहर, लगभग 15 कि.मी. लम्मा अव 7 कि.मी. चौड़ा अहै।

प्राचीन बौद्ध अव जैन तीर्थस्थल वैशाली, राजगीर या राजगृह, नालन्दा, बोधगया अउर पावापुरी पटना शहर कय आस-पास अहै। पटना सिक्ख लोगन कै खातिर पवित्र अस्थान अहै। सिक्ख लोगन कय 10वा वा अंतिम गुरु गुरू गोबिंद सिंह कय जन्म हिया भए रहा| हर बरिस देश-विदेश से लाखन ठो सिक्ख श्रद्धालु पटना मा हरमंदिर साहब कय दर्शन करय आवा लय।

एतिहासिक अव प्रशासनिक महत्व कय अलावा पटना शिक्षा अव चिकित्सा कय भी प्रमुख केंद्र अहै। देवारिन से घिरा नगर कय पुराना क्षेत्र, जवने कय पटना सिटी कहा जाला एक प्रमुख वाणिज्यिक केन्द्र अहै।


संदर्भसम्पादन