वैदिक काल प्राचीन भारतीय संस्कृति कय एक काल खंड होय, जब वेद कय रचना भए रहा। हड़प्पा संस्कृति कय पतन कय बाद भारत में एक नया सभ्यता कय आविर्भाव भय। ई सभ्यता कय जानकारी कय स्रोत वेद कय आधार पे एका वैदिक सभ्यता कय नाम दै गय। वैदिक काल कय दुई भाग, ऋग्वैदिक काल (1500- 1000 ई. पू.) तथा उत्तर वैदिक काल (1000 - 600 ई. पू.) में बांटा है।

भौगोलिक क्षेत्रसम्पादन

ऋग्वैदिक काल में आर्य सप्त सिन्धु क्षेत्र में रहत रहे। यह क्षेत्र वर्तमान में पंजाब एवं हरियाणा कय कुछ भाग में पड़त अहै।

ऋग्वेद में 40 नदि, हिमालय (हिमवंत) त्रिकोता पर्वत, मूंजवत (हिंदु-कुश पर्वत) कय उल्लेख अहै। गंगा नदी कय चर्चा एक बेर, यमुना कय तीन बेर उल्लेख अहै। विंध्यपर्वतमाला कय चर्चा नाहीं भा अहै। रावी नदी कय तट पे 'दाशराज्ञ युद्ध' (सुदास एवं दिवोदास) कय बीच भय रहा।